Ad Code

Responsive Advertisement

Ticker

6/recent/ticker-posts

How to Make Website on WordPress in Hindi 2022| वर्डप्रेस पर वेबसाइट कैसेबनाएं?- [step by step beginners guide]

नमस्कार दोस्तों, यदि आप एक blogger है तो आपने wordPress का नाम जरूर सुना होगा। आज हम इसी वर्डप्रेस के बारें में शुरु से लेकर अंत तक विस्तार से जानेंगे। इस लेख में हम वर्डप्रेस में वेबसाइट कैसे बनाएं (How to make website on wordpress) और वर्डप्रेस क्या है? (what is wordPress?) तथा वेबसाइट बनाने में कितना खर्चा होता है? इन सारी चीजों के बारे में जानेंगे इसके अलावा वर्डप्रेस का इतिहास क्या है? (History of wordPress?) आदि के बारें में जानेंगे।

How to Make Website on WordPress in Hindi 2021| वर्डप्रेस पर वेबसाइट कैसेबनाएं?- [step by step beginners guide]

WordPress क्या है? [what is WordPress]

WordPress वर्तमान समय का सबसे विश्वसनीय Open Source Software है, जिसका इस्तेमाल कई लोग वेबसाइट तथा ब्लोग्स बनाने के लिए करते है। जिसे 27 मई 2003 में लॉंच किया गया था। इसको PHP and MySQL भाषा में लिखा गया था।
हालांकि कुछ समय पहले इसका इस्तेमाल सिर्फ ब्लोग्स के लिए किया जाता था। 2003 में सर्वप्रथम इसका इस्तेमाल एक ब्लोगिंग टूल के के रुप में किया गया था लेकिन अब यह ब्लोग्स के साथ कंटेंट मेनेजमेंट के लिए भी जाना जाता है। अर्थात यह एक Content Management System (CMS) है।
यह अब तक का सबसे विश्वसनी या लोकप्रिय प्लेट फॉर्म है, जहां लोग अपनी वेबसाइट बनाना पसंद करते है।
इस पर वेबसाइट बनाने के लिए कोडिंग की अधिक जानकारी का होना आवश्यक नही है। आप सिर्फ कुछ Plugins का इंस्टोल करके ही अपनी वेबसाइट को अपने अनुसार बदल सकते है।

वर्डप्रेस क्या है विस्तार से जानने के लिए आपको हमारा यह पोस्ट जरूर पढ़ना चाहिए

What is PHP and MySQL

कुछ समय पहले हमने PHP और MySQL के बारें मे सुना। मुझे पूरा यकीन है कई लोग इन शब्दो से अनजान होंगे। इसलिए मैं आपको बता दूं कि PHP वेब एप्लिकेशन, इंट्रानेट या इंटरने एप्लिकेशन को बनानें में उपयोग की जाने वाली एक भाषा है।
वही MySQL एक शक्तिशाली रिलेशनल डेटाबेस मैनेजमेंट है। अर्थात यह एक लोक्रपिय डेटाबेस सर्वर है। जिसका कार्य बङे डेटाबेस कनेक्शन को नियंत्रित करना है।
इनका संयुक्त रुप से उपयोग शक्तिशाली और स्केलेबल वेब या इंटरनेट एप्लिकेशन बनाने के लिए किया जाता है।

WordPress का इतिहास [History of wordpress?]

चलिए अब हम इसके इतिहास के बारें में जानते है। वास्तव में वर्डप्रेस की शुरुआत एक साधारण से टूल्स की तरह हुई थी। एक साल बाद उसी के विचार से वर्डप्रेस का विकास किया गया था। जिसमें समय समय पर काफी अपडेट किया गया था।
• 2001- सन् 2001 में सबसे पहले michel valdrighi नें इस टूल्स को लॉच किया था। उन्होने उसका नाम b2/cafelog रखा था। लेकिन कुछ समय बाद उन्होने इसे बंद कर दिया था।
• 2003- b2/cafelog के डेवलपमेंट के बंद हो जाने के बाद Matt Mullenweg और Mike Little नाम के दो प्रोग्रामर्स ने b2/cafelog का विचार लेकर वर्डप्रेस को विकसित किया था।
• 2004- सन् 2004 में पहली बार वर्डप्रेस में प्लगइन सिस्टम को शामिल किया गया था।
• 2005- सन् 2005 में प्लगइन एड करने के बाद थीम सिस्टम, डिफॉल्ट टेंप्लेट तथा इमेज अपलोड को एड किया गया था। इनके अलावा और कई टूल्स को भी शामिल किया गया था।
• 2007- सन् 2007 में इसके डिजाइन को बदला गया। इसके अलावा इसमें कई सारे नये फिचर्स को एड किया गया था।

WordPress.com और WordPress.org में क्या अंतर है?

विशेष रुप से यह जानकारी नये ब्लोगर्स के लिए महत्वपूर्ण है कि वर्डप्रेस के नाम से ही दो प्लेटफॉर्म बने हुए है। इन दोनो को वर्डप्रेस के को-फाउंडर द्वारा ही बनाया गया है। किंतु ये दोनो एक दुसरे से अलग है। अक्सर नए ब्लोगर्स इन दोनो को लेकर कनफ्यूज रहते है।
• WordPress.org- यह कंटेंट मैनेजमेंट सिस्टम सॉफ्टवेयर है, जिसका इस्तेमाल फ्री में किया जा सकता है। इसका इस्तेमाल करने के लिए आपको सिर्फ एक हॉस्टिंग प्लान तथा डॉमेन नेम को खरीदने की आवश्यकता होती है।
• WordPress.com- यह स्वंय एक प्रकार का हॉस्टिंग प्लेटफॉर्म है अर्थात हॉस्टिंग प्रोवाइडर है। इसका इस्तेमाल करने के लिए पैसे देने पङते है। इसका इस्तेमाल कुछ शर्तो के अंतर्गत फ्री में भी किया जा सकता है। इसके लिए ये वेबसाइट पर एड लगा देते है, जिसका हमें कोई पेमेंट नही मिलता है।

WordPress की विशेषताए क्या है?

वर्डप्रेस की कई सारी विशेषताए है, जिनके बारें में हम जानेंगे।
• Theme- वर्डप्रेस की पहली विशेषता उसके यूजर्स को थीम एडिट करने की सुविधा प्रदान करना है। यह आपको तीन डिफॉल्ट थीम देता है। यदि आपको ये थीम्स भी पसंद नही आती है तो इसके लिए थीम डायरेक्टरी की सुविधा दी जाती है, जहां पर आप मन पसंद की थीम डाउनलोड या इंस्टोल कर सकते है।
• Plugins- अपनी वेबसाइट को अपने अनुसार बनाने के लिए या कुछ सिस्टम एड करने के लिए Plugins दी जाती है। जिनके इस्तेमाल से आप अपनी वेबसाइट को अपने अनुसार बना सकते है।
• SEO- एसईओ वेबसाइट के ट्राफिक को काफी प्रभावित करता है। अधिक ट्राफिक लाने के लिए सर्च इंजन को ओप्टिमाइज किया जाता है। इसी कारण वर्डप्रेस को एसईओ ऑप्टिमाइजड बनाया गया है। इसके अलावा यह एसईओ के लिए प्लगइन्स भी देता है।
• Community- अपने यूजर्स की समस्याओ को सुलझाने के लिए वह संपर्क की सुविधा देता है। जिसके जरिए आप अपने सवाल पूछ सकते है।
• User Management- यदि आप टीम बनाकर वेबसाइट चलाना चाहते है तो वर्डप्रेस के जरिए आप एडमिन, ऑथर तथा एडिटर्स को अलग अलग परमिशन दे सकते है।
• Multi Language- वर्डप्रेस को आप अपनी पसंद की भाषा में उपयोग कर सकते है। इसमें आपको 70 से अधिक भाषाएं मिलती है।
• Media Management- वर्डप्रेस आपको फोटो को एडिट करने के लिए कुछ टूल्स भी देता है। इसके अलावा आप पहले उपयोग किए गए फोटो का गैलेरी में जाकर दोबारा उपयोग कर सकते है।

WordPress के फायदे तथा नुकसान

वर्डप्रेस आज के समय में सबसे अधिक प्रचलित है क्योंकि इसके कई सारी फायदे है, जिसके कारण कई लोगो अपनी वेबसाइट को इस पर होस्ट करते है।

वर्डप्रेस के उपयोग करने के फायदे

• इसका उपयोग फ्री में भी किया जा सकता है तथा आसान है।
• वर्डप्रेस का उपयोग काफी आसान है तथा वेब डिजाइनिंग के लिए कई सारी प्लगइन दी जाती है।
• अपने हॉस्टिंग सर्वर पर इंस्टोल करने में आसानी होती है।
• अपने मन की थीम तथा वेबसाइट को डिजाइन कर सकते है।
• सबसे बङी बात यह SEO Friendly है।
• वर्डप्रेस का उपयोग कर आप अपनी वेबसाइट mobile friendly and responsive बना सकते है।
• इसका इस्तेमाल करने के लिए Coding तथा Programming Knowledge का होना जरुरी नही है।

वर्डप्रेस के नुकसान

जिस वस्तु के फायदे होते है, उसका कुछ न कुछ नुकसान होता ही है। ठीक इसी प्रकार वर्डप्रेस के उपयोग के कुछ नुकसान भी है।
• इसका पहला नुकसान इसी का फायदा ही है। अर्थात इनके Plugins के ज्यादा इस्तेमाल करने से वेबसाइट की स्पीड कम हो जाती है।
• वर्डप्रेस पर वेबसाइट बनाने के लिए किसी हॉस्टिंग कंपनी से हॉस्टिंग प्लान खरीदना आवश्यक है।
• वर्डप्रेस पर डिजाइन कस्टेमाइज करने के लिए HTML, CSS, PHP की जानकारी होना आवश्यक है।

वर्डप्रेस पर वेबसाइट कैसे बनाएं? [Step by Step Beginner’s guide]

अब हम जानेंगे कि “वर्डप्रेस पर वेबसाइट कैसे बनाए?” नीचे दिए गए सभी बिंदू वर्डप्रेस पर अपनी वेबसाइट बनाने के लिए महत्वपूर्ण है। अंत इन्हे सावधानीपूर्वक तथा ध्यान से पढे।

WordPress पर Website बनाने के लिए क्या चाहिए?

WordPress पर Websie बनाने के लिए Domain name तथा Hosting की आवश्यकता होती है। वर्तमान समय में कई सारे हॉस्टिंग प्रोवाइडर्स है, जिनसे आप अच्छा Hosting Plans खरीद सकते है। इन्ही से आप डॉमेन नेम भी खरीद सकते है। ध्यान रखे कि किसी भी वेबसाइट से हॉस्टिंग खरीदने से पहले सभी हॉस्टिंग प्रोवाइडर्स के प्लान्स को अच्छी तरह से जान ले।
• Domain Name
• Hosting

अपनी वेबसाइट के लिए एक अच्छा सा डॉमेन नेम खरीदे

वर्डप्रेस पर ब्लोग या वेबसाइट बनाने के लिए सबसे पहली आवश्यकता डोमेन नेम है। इसलिए यदि आप वेबसाइट बनाना चाहते है तो आपको सबसे पहले एक डॉमेन नेम खरीदना होगा।
डॉमेन नेम खरीदने के लिए कई ऑनलाइन वेबसाइट है, जो डॉमेन नेम प्रोवाइड कराती है। उदा. के लिए Godaddy.com से खरीद सकते है। हालांकि यहां अब डॉमेन उच्च कीमत पर मिलते है लेकिन भरोसेमंद है। इसके अलावा भी कई वेबसाइट है, जहां से आप डॉमेन नेम खरीद सकते है।
इसे आप एक से दो साल के लिए खरीद सकते है। अधिक पैसे देकर आप अपने डॉमेन नेम की सीमा को बढा सकते है।

वेबसाइट के लिए डॉमेन कहां से खरीदे?

वैसे ऐसी कई सारी कंपनियां है जो आपको हॉस्टिंग प्रोवाइड करती है लेकिन कुछ कंपनीयो की या तो प्राइस अधिक होती है या फिर उनका कस्टमर स्पोर्ट अच्छा नही होता है। जब आप ऐसी कंपनी से हॉस्टिंग या डॉमेन खरीदते है, तो इससे आपकी वेबसाइट पर काफी बुरा प्रभाव पङता है।
इसलिए आवश्यक है कि आप सोच समझकर, उस कंपनी के कस्टमर स्पोर्ट, कीमत तथा विशेषताओ इत्यादि के बारें में जानने के बाद ही किसी कंपनी से हॉस्टिंग या डॉमेन खरीदे।
अब हम नीचे कुछ कंपनीयो के नाम देखेंगे, जहां से आप विश्वसनीय डॉमेन खरीद सकते है।
• bluehost
• hostgator
• namecheap
• godaddy
• bigrock


ये कुछ विश्वसनीय हॉस्टिंग प्रोवाइडर कंपनी है, जो भारत में सबसे अधिक लोककप्रिय है। इनका कस्टमर स्पोर्ट भी अच्छा है। हालांकि इनकी कीमत अधिक हो सकती है। कुछ विशेष त्यौहारो पर इन डॉमेन पर छूट भी मिलती है। आप इसका फायदा उठा सकते है।

डॉमेन नेम कैसे चुने?

अब हम कुछ ऐसी ट्रिप्स की बात करेंगे जिनका इस्तेमाल कर, आप आसानी से तथा सही डॉमेन नेम चुन सकते है।
• डॉमेन नेम को चुनने के लिए पहली टिप यह है कि आप डॉमेन नेम चुनते समय जल्दबाजी ना करे।
• अपनी वेबसाइट के लिए ऐसे डॉमेन नेम को चुने, जिसे याद करना आसान होता है। इसके लिए आप ऐसे डॉमेन नेम को चुने, जो सिर्फ दो से तीन शब्द का ही हो।
• अपने लिए एक ऐसे डॉमेन नेम को चुने, जो लोगो को आकर्षक करे तथा वह लोगो को आसानी से याद हो जाए।
• कई लोगो का कहना है कि आप यूनिक डॉमेन नेम को चुने और इसी कारण कई लोग ऐसे डॉमेन नेम को चुनते है, जिसका अर्थ लोग समझ नही पाते है। इसलिए आप ऐसे नाम को चुने, जिसका अर्थ लोग समझ पाए।
• उस डॉमेन नेम को चुने, जो आपके काम तथा ब्लोग से संबधित हो।
• अंतिम टिप यही है कि आप अपने डॉमेन नेम के स्पेलिंग का विशेष ध्यान रखे।

वेबसाइट के लिए डॉमेन कैसे खरीदे?

डॉमेन नेम को खरीदने का process लगभग सभी में एक जैसा ही है। हां थोङा बहुत फर्क हो सकता है। लेकिन यह प्रोसेस आसान है।
• एक अच्छी डॉमेन प्रोवाइडर वेबसाइट पर जाए तथा वहां पर अपने डॉमेन नेम को सर्च करे।
• अब आपको टर्म सेलेक्ट करनी होगी। अर्थात आपको यह डॉमेन कितने समय के लिए चाहिए। इसके बाद Proceed to checkout के option को सेलेक्ट कर दे।
• इसके बाद यदि आप पुराने यूजर है तो लॉग इन करे नही तो आपको Continue पर क्लिक कर रजिस्टरेशन करना होगा।
• अब अपने पैमेंट से संबधित जानकारीयो को भरना होगा तथा अपने पेमेंट मेथड को सेलेक्ट करना होगा। जिसके जरिए आप पैमेंट करना चाहते है।
इस प्रकार से आप Domain name buy सकते है।

अपने ब्लॉग या वेबसाइट के लिए अच्छा हॉस्टिंग प्लान्स खरीदे

अपनी वेबसाइट के लिए एक अच्छा सा डॉमेन नेम खरीद लेने के पश्चात आपको एक अच्छे Hosting Providers से हॉस्टिंग प्लान खरीद ले। हॉस्टिंग खरीदते समय हॉस्टिंग की कीमत तथा उनकी हॉस्टिंग के फीचर्स तथा सुविधाओ का विशेष ध्यान रखे। जो आपको उस प्लान के साथ मिलने वाली है।
अगर आप हॉस्टिंग प्लान को खरीदने की सोच रहे है तो Hostinger, Bluehost, Hostgator, Namecheap, Fastcomet इत्यादि का इस्तेमाल कर कर सकते है। क्योंकि ये आज के समय में सबसे अधिक लोकप्रिय है। इसी कारण इनके प्लानस भी थोङे महंगे होते है। इनके अलावा कुछ और भी वेबसाइट्स है।

डॉमेन नेम को DNS Server से कनेक्ट कर दे

यदि आपने अपनी वेबसाइट या ब्लोग के लिए डॉमेन नेम तथा हॉस्टिंग को खरीद लिया है तो इसके बाद आपको डॉमेन नेम तथा हॉस्टिंग को एक दुसरे से कनेक्ट करना होगा।
वेबसाइट या ब्लोग को ऑनलाइन करने के लिए डॉमेन नेम को हॉस्टिंग से जोङना आवश्यक है। अर्थात आपको अपने डॉमेन को डीएनएस सर्वर से कनेक्ट करना है।
डीएनएस सर्वर से कनेक्ट करने के लिए आपको डॉमेन मैनेजमेंट में जाकर Domain के DNS को Web Hosting के DNS से बदलना होगा।

How to Doman Name Server

Domain name Server को बदलना बहुत ही आसान है।आप कुछ मिनट में ही अपना डॉमेन नेम सर्वर बदल सकते है।
• सबसे पहले आप अपनी हॉस्टिंग वेबसाइट पर जाकर लॉग इन करे, जहां से आपने हॉस्टिंग खरीदी है। वही पर आपको My Products का बटन दिखाई देगा। आप उस पर क्लिक कर दे।
• क्लिक करने के बाद आपको मैनेज के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
• जिसके बाद आपको आपका डॉमेन दिखाई देगा। वहां से आप सेटिंग के विकल्प पर जाएंगे तो आपको नेम सर्वर का विकल्प मिल जाएगा।
• नेम सर्वर के विकल्प में ही आपको मैनेज का विकल्प मिलेगा। आप उस पर क्लिक कर दे।
• जिसके बाद आपको Custom के विकल्प पर जाना है औऱ अपना पहले वाला नेम सर्वर को हटाकर Add Name Server पर क्लिक कर उसमें अपना नया Domain Name Server को डाल दे।
• इस तरह से आप अपना डॉमेन नेम सर्वर को बदल सकते है।

Cpanel को ऑपन तथा वर्डप्रेस को इंस्टोल करे

DNS Server से कनेक्ट हो जाने के बाद आपको एक कंट्रोल पैनल या सी पैनल को इंस्टोल करना होगा। मैं आपको बता दूं कि कंट्रोल पैनल का अर्थ है वह स्थान जहां से आप अपनी वेबसाइट को कंट्रोल कर सकते है।
हॉस्टिंग प्रोवाइडर वेबसाइट आपको कंट्रोल पैनल देती है। जहां से आपने अपनी हॉस्टिंग खरीदी है। इसकी लिंक आपको आपकी ईमेंल पर मिल जाती है। जहां से आप इसे इंस्टोल कर सकते है। इसके अलावा आपने जहां से हॉस्टिंग खरीदी है, उसके अकाउंट पर जाकर आप अपने कंट्रोल पैनल को इंस्टोल कर सकते है।
Control Panel को Install कर लेने के बाद आपको उसके होम पैज पर जाकर लॉग इन करना होगा। लॉग इन करते समय वह आपसे यूजर नेम तथा पासवर्ड मांगता है। ध्यान रहे आपको इसे दुसरे के साथ सांझा नही करना है। लॉग इन कर लेने के बाद आप अपने वेबसाइट के वर्डप्रेस को इंस्टोल कर ले।

How to open Cpanel [Control Panel ko open kaise kre]

• अपनी वेबसाइट का कंट्रोल पैनल ऑपन करने के लिए आपको सबसे अपनी हॉस्टिंग वेबसाइट पर जाकर लॉग इन करना होगा। लॉग इन उस ईमेल से करे, जिस ईमेल से आपने Hosting खरीदी थी।
• लॉग इन करने पर आपके सामने वेलकम पैज खुल जाएगा। वहां पर Manage के विकल्प पर क्लिक करे।
• मैनेज पर क्लिक कर देने के बाद List/Search Orders पर क्लिक कर दे और उसके बाद डॉमेन नेम पर क्लिक कर दे।
• जिसके बाद आपको Admin Details पर क्लिक कर दे। जिसके बाद आपको एक छोटे से बॉक्स में आपके कंट्रोल पैनल का यूआरएल, यूजर आईडी तथा पासवर्ड मिलेगा। जिसका इस्तेमाल आपको सी पैनल में लॉग इन करने के लिए होगा।

How to install WordPress in Hindi

चलिए अब हम WordPress को Install करना सीखते है। वर्डप्रेस को इंस्टोल करने के लिए कंट्रोल पैनल को ऑपन करना सीखना जरुरी था। इसी कारण हमने सबसे पहले Control panel को ऑपन करना सीखा था। अब वर्डप्रेस को आसानी से install कर सकते है।
आप वर्डप्रेस को मात्र पांच सरल स्टेप्स में इंस्टोल कर सकते है।
• सबसे पहले आप अपने CPanel के पैज पर जाए। इसके लिए आपको बॉक्स में मिले URLका इस्तेमाल करे। वहां लॉग इन करे।
• लॉग इन करते ही आपके सामने CPanel का पैज खुल जाएगा। आप थोङा सा नीचे जाए।
• जब आप पैज को थोङा स्क्रोल करेंगे तो वहां पर आपको Software का विकल्प मिलेगा, उसी के अंदर आपको Softaculous App Installer के Option पर क्लिक करना होगा।
• इसके बाद आप वर्डप्रेस के विकल्प को चुने और उसके इंस्टोल के विकल्प को क्लिक कर दे। इसके बाद आप अपना Domain name, Site name तथा Site Description डाल दे।
• अब आप Admin Account पर जाए तथा वहां Admin User name तथा Admin Password को भर दे। अब आप इंस्टोल पर क्लिक कर दे।
इस तरह से आप अपना वर्डप्रेस इंस्टोल कर अपना ब्लोग या वेबसाइट बना सकते है।

WordPress Dashboard को ऑपन करे

अब हमारे लगभग सभी काम हो गये है, जो किसी ब्लोग को या वेबसाइट को बनाने के लिए आवश्यक है। अब आपको ब्लोग वर्डप्रेस इंस्टोल करना होगा।
आपको सबसे पहले अपने ब्लोग के यूआरएल पर जाना होगा। यूआरएल को ऑपन करते ही आपके सामने आपका वर्डप्रेस ब्लोग खुल जाएगा। जहां पर आपको लॉग इन करना होगा।
लॉग इन करने के लिए वह आपसे एडमिन यूजर नेम तथा एडमिन पासवर्ड मांगेगा। आपको उसे भर देना है। इस प्रकार आप लॉग इन हो जाएंगे।
एक बार पुन: मैं आपको याद दिला दूं कि ये पासवर्ड तथा यूजर नेम किसी दुसरे के साथ सांझा न करे और इसे याद रखे। एडमिन यूआरएल का इस्तेमाल कर एडमिन यूजर अपने ब्लोग वर्डप्रेस को ऑपन कर सकता है।

वेबसाइट के लिए एक अच्छी सी थीम इंस्टोल करे

अब लगभग सभी काम हो चुके है। अब आपको अपनी वेबसाइट या ब्लोग को सुंदर तथा आकर्षक बनाने के लिए आपको एक अच्छी सी थीम इंस्टोल करनी होगी। चाहे तो आप थीम्स को खरीद भी सकते है नही तो आप फ्री में भी इंस्टोल कर सकते है। जो आपको वर्डप्रेस में आसानी से मिल जाती है।

How to install theme in wordPress?

• वर्डप्रेस के लिए थीम को इंस्टोल करने के लिए आपको आपके वर्डप्रेस ब्लोग में ऊपर की ओर Appearnce का विकल्प दिखाई देगा। आपको उस पर जाना है।
• वहां पर आपको Themes का विकल्प मिल जाएगा। आपको बस उस पर क्लिक करना है।
• उसके बाद कोई अच्छी सी थीम को चुने और उसके बाद इंस्टोल के विकल्प पर क्लिक कर दे।
इस प्रकार आप अपनी वेबसाइट के लिए एक अच्छी थीम को इंस्टोल कर सकते है।

WordPress पर Website बनाने में कितना खर्च लगता है?

हालांकि वर्डप्रेस एक फ्री सॉफ्टवेयर है। अर्थात आप इसका इस्तेमाल नि:शुल्क कर सकते है। लेकिन वर्डप्रेस पर वेबसाइट बनाने के लिए डॉमेन नेम तथा हॉस्टिंग की आवश्यकता होती है। ये मुफ्त में नही होते है, इसके लिए आपको कुछ पैसे देने पङते है। हालांकि आप कुछ समय के लिए डॉमेन को फ्री में भी ले सकते है।
वर्डप्रेस वेबसाइट बनाने के लिए कितने पैसे लगेंगे, इस सवाल का उत्तर पूर्णत: आप पर निर्भर करता है कि आप किस तरह की वेबसाइट बना रहे है। इसके अलावा इस बात पर भी निर्भर करता है कि आप किस वेबसाइट से डॉमेन तथा हॉस्टिंग खरीद रहे है। हमारे अनुसार एक वेबसाइट को बनाने के लिए प्रति वर्ष कम से कम तीन हजार रुपये का खर्चा होगा। जिसमें आप एक डॉमेन तथा हॉस्टिंग खरीद पाएंगे। इसके अलावा यदि आप और अधिक पैसे खर्च करना चाहते है तो आप थीम, एसईओ टूल्स इत्यादि को खरीद सकते है।
मेरी यही राय है कि आप एक सस्ते डॉमेन तथा हॉस्टिंग से ही शुरुआत करे। जब आपकी साइट पर ट्राफिक आना शुरु हो जाता है, तभी आप ज्यादा पैसे खर्च कर अच्छी हॉस्टिंग खरीदे।

निष्कर्ष-

इस पोस्ट में हमने यह जाना कि आप ‘कैसे वर्डप्रेस पर ब्लोग बना सकते है’ । इसके अलावा वेबसाइट बनाने के लिए क्या क्या चाहिए।
इस प्रकार आप वर्डप्रेस पर अपना ब्लोग या वेबसाइट बना सकते है। वर्डप्रेस पर ब्लोग बनाने के बाद भी कुछ कार्य करने पङते है, जैसे कि ब्लोग को डिजाइन कैसे करे, उसे मैनेज कैसे करे, आर्टिकल कैसे लिखे, अपनी वेबसाइट पर ट्राफिक कैसे लाए इत्यादि सवालो के जवाब पाने के लिए हमारी पोस्ट से जुङे रहे।

Post a Comment

0 Comments